न्याय की हुई जीत पत्रकार कार्तिकेय पांडे को मिली जमानत खबर लिखने पर विधायक शारदा प्रसाद द्वारा दर्ज कराया गया था एससी एसटी एक्ट का मुकदमा

न्याय की हुई जीत पत्रकार कार्तिकेय पांडे को मिली जमानत

खबर लिखने पर विधायक शारदा प्रसाद द्वारा दर्ज कराया गया था एससी एसटी एक्ट का मुकदमा

रिपोर्ट:- तरुण भार्गव

चकिया(प्यारी दुनिया)। चकिया विधायक शारदा प्रसाद द्वारा पिछले दिनों खबर लिखने पर पत्रकार कार्तिकेय पांडे के खिलाफ एससी एसटी एक्ट का मुकदमा दर्ज करवा कर उसको जेल भेज दिया गया था मामले में आज पत्रकार कार्तिकेय पांडे की जमानत हो गई एससी एसटी एक्ट कोर्ट चंदौली के न्याय अधिकारी ने पच्चीस हजार के मुचलके पर कार्तिकेय पांडे को जमानत दे दी आपको बताते चलें कि चकिया विधायक शारदा प्रसाद द्वारा उक्त पत्रकार पर सत्ता की हनक में आकर फर्जी तरीके से एससी एसटी एक्ट का मुकदमा दर्ज करा दिया गया था।

जिसके बाद लगातार पत्रकार वर्ग का आंदोलन चल रहा था तथा शारदा प्रसाद विधायक का पुतला फूंकने का भी प्रयास किया गया था वहीं कुछ पत्रकारों ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मुलायम सिंह यादव को ज्ञापन सौंपकर पत्रकारों पर हो रहे अत्याचार से संबंधित ज्ञापन भी सौंपा था गौरतलब है कि विधायक द्वारा उक्त पत्रकार को जेल भेजने के बाद लोकतंत्र का चौथा स्तंभ बहुत अधिक नाराज चल रहा था तथा विधायक के विरोध में लगातार धरना प्रदर्शन व ज्ञापन देने का कार्यक्रम हो रहा था जिसके बीच आज पत्रकार को एससी एसटी एक्ट चंदौली के न्यायाधीश ने जमानत दे दी खबर लगते ही चकिया सही चंदौली जिले के पत्रकारों में हर्ष का माहौल व्याप्त हो गया है तथा पत्रकारों ने इसे न्याय की जीत बताया है।

ख़बरें जरा हटके