Home देश चकिया ब्लाक में ग्रामीणों को फर्जी हस्ताक्षर करके दिए जा रहे जरूरी...

चकिया ब्लाक में ग्रामीणों को फर्जी हस्ताक्षर करके दिए जा रहे जरूरी प्रमाण पत्र

12
0

चकिया ब्लाक में ग्रामीणों को फर्जी हस्ताक्षर करके दिए जा रहे जरूरी प्रमाण पत्र


ग्रामीणों ने सेक्रेटरी पर लगाए गंभीर आरोप अनाधिकृत व्यक्ति कर रहा सेक्रेटरी की जगह फर्जी हस्ताक्षर

 

रिपोर्ट:- राज कुमार सोनकर(जिला संवाददाता)

चकिया,चन्दौली(प्यारी दुनिया)। यूं तो प्रशासन द्वारा सभी ग्रामीणों को ब्लॉक से संबंधित आवश्यक प्रमाण पत्र, निशुल्क देने के लिए विभिन्न अधिकारियों को अधिकृत किया गया है जो ग्रामीणों को हस्ताक्षर कर आवश्यक कागजात उपलब्ध करवाते हैं लेकिन चकिया ब्लाक में सेक्रेटरी के मनमाने रवैए से ग्रामीणों में रोष है ग्रामीणों का आरोप है कि सेक्रेटरी की अनुपस्थिति में गैर अधिकृत व्यक्ति द्वारा सेक्रेटरी का हस्ताक्षर व मोहर लगाकर ग्रामीणों को प्रमाण पत्र दिया जा रहा है वहीं कुछ लोगों ने प्रमाण पत्र के लिए पैसे लेने का भी आरोप लगाया है वहीं ग्रामीणों के आरोप पर जब सेक्रेटरी अश्विनी कुमार से इस विषय में बात की गई तो उन्होंने कहा कि आप खबर छाप दीजिए और मेरी पहुंच बहुत ऊपर तक है मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है।

आपको बताते चलें कि प्रदेश सरकार द्वारा खंड विकास कार्यालय में ब्लॉक के अधीन आने वाले समस्त गांवों के ग्रामीणों के जरूरी प्रमाण पत्र यथा जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र कुटुंब रजिस्टर की नकल आदि जैसे जरूरी प्रमाण पत्रों को निशुल्क देने के लिए बाकायदा अधिकारियों को निर्देशित किया गया है इसके बावजूद कुछ लोग सरकार के आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुए मनमानी करने पर उतारू है, जिसको लेकर प्रमाण पत्र लेने आए ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है तथा समाचार पत्र के माध्यम से ग्रामीणों ने उक्त सेक्रेटरी पर कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है जिससे भ्रष्टाचार को रोका जा सके।

अब प्रश्न यह उठता है कि सरकार के कड़े निर्देश के बावजूद यदि कुछ अधिकारियों व सेक्रेटरी द्वारा भ्रष्टाचार व मनमानी की जाती है तो इन पर क्या कार्यवाही होती है??

Previous articleदर्जा प्राप्त मंत्री का अपना दल एस के कार्यकर्ताओं ने फूल माला से किया सम्मानित
Next articleब्लॉक सभागार चकिया में प्रभारी मंत्री ने सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को बांटे स्वीकृति पत्र सरकारी योजनाओं के प्रगति की की समीक्षा लापरवाही पाए जाने पर कई अधिकारियों को लगाई फटकार