Home क्राइम साइबर सेल/स्वाट टीम क्राइम ब्रांच एवं एसओजी की टीम को मिली बड़ी...

साइबर सेल/स्वाट टीम क्राइम ब्रांच एवं एसओजी की टीम को मिली बड़ी सफलता

8
0

 

साइबर सेल/स्वाट टीम क्राइम ब्रांच एसओजी को बड़ी सफलता

 

रिपोर्ट:-जाकिर अली

गोरखपुर(प्यारी दुनिया)।अन्तर्राज्यीय गैंग के 11 सदस्य को किया गिरफ्तार फिंगर प्रिंट क्लोन बनाकर बैंक खातो से रूपये निकालने वाले अन्तर्राज्यीय गैंग के 11 सदस्य गिरफ्तार इनके कब्जे से रू0 910000.00 नगद एक होण्डा सिटी कार, एक अदद पल्सर मोटरसाइकिल, फिंगर प्रिन्ट क्लोन, फिंगर प्रिन्ट स्कैनर, फिंगर प्रिन्ट क्लोन बनाने वाली मशीन मय उपकरण, मोबाइल फोन 53 अदद, मोबाइल सिम, चेक बुक, पास बुक, डोंगल, एटीएम कार्ड, लैपटाप, पैन ड्राइव व रजिस्टर आधार कार्ड डाटा सहित भारी मात्रा में सामग्री बरामद।

जनपद में हो रहे साइबर ठगी करके जनता के बैंक खातो से पैसा निकालने की घटना को गम्भीरता से लेते हुए घटना में शामिल अभियुक्तो की गिरफ्तारी व बरामदगी हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद गोरखपुर द्वारा पुलिस अधीक्षक अपराध जनपद गोरखपुर के पर्यवेक्षण में टीम बनाकर लगाया गया था।
इसी क्रम में क्षेत्राधिकारी अपराध जनपद गोरखपुर के नेतृत्व में फिंगर प्रिन्ट का क्लोन बनाकर बैंक खातो से पैसे निकालने वाले गिरोह में शामिल अभियुक्तो की गिरफ्तारी व बरामदगी हेतु क्राइम ब्रान्च, साइबर सेल, स्वाट टीम व एसओजी टीम को लगाया गया था। घटना में शामिल अभियुक्तो की गिरफ्तारी के सम्बन्ध में साक्ष्य संकलन किया जा रहा था व मुखबिर तन्त्र को भी मामूर किया गया जिसके सम्बन्ध में जरिए मुखबिर सूचना मिला कि फिंगर प्रिन्ट क्लोन बनाकर बैंक खातो से पैसा निकालने वाले गिरोह के सदस्य होण्डा सिटी कार व अन्य साधनो से कलेक्ट्रेट के तरफ से हरिओम नगर तिराहे की तरफ आने वाले है के सूचना पर पुलिस टीम द्वारा कलेक्ट्रेट की तरफ से आ रही होण्डा सिटी कार व मोटरसाइकिल पर सवार व्यक्तियो को तमकुही कोठी थाना क्षेत्र कैण्ट के पास रोककर उसमें बैठे व्यक्तियो से पूछतांछ करते हुए जामा तलाशी लिया गया तो नगद रू0 9,10,000.00, एटीएम कार्ड, मोबाइल फोन, मोबाइल सिम, फिंगर प्रिन्ट क्लोन, बैंक पास बुक , बैंक चेक बुक आदि भारी मात्रा में बरामद हुआ, जिसके सम्बन्ध में पूछतांछ किया गया तो सभी व्यक्तियो द्वारा बताया गया कि हम लोग अंगूठे का क्लोन बनाकर फर्जी सीएसपी से बैंक खातो से पैसे निकालने का काम करते है तथा हम लोग के कुछ साथी जो अंगूठे का क्लोन बनाते है साई कम्यूनिकेशन जिला पंचायत रोड की दुकान पर मौजूद है जहां पर हम लोग भी जा रहे है। गाड़ी में बैठे सभी व्यक्ति व मोटरसाइकिल सवार को मय पुलिस टीम के साई कम्यूनिकेशन जिला पंचायत रोड पहुचा तो साई कम्यूनिकेशन पर बैठे मिले जिनके कब्जे से क्लोन बनाने वाली मशीन, कम्प्यूटर मय उपकरण बरामद हुआ, को गिरफ्तार कर सभी की जामा तलाशी ली गई। गिरफ्तारी किये अभियुक्तो व बरामद किये गये सामानो का विवरण निम्न है।

गिरफ्तार किये गये अभियुक्त का नाम, पता व अपराध करने का तरीका
1- राघवेन्द्र मिश्रा पुत्र श्री केसरी मिश्रा निवासी दाउदपुर थाना कैण्ट जनपद गोरखपुर।
तरीका नेपाल व दिल्ली के व्यक्तियों को पैसे देकर उनका विभिन्न बैंको में खाता खुलवाकर उनका एटीएम कार्ड चेकबुक,नेट बैंकिग का आईडी पासवर्ड एवं वीडियों केवाईसी कराकर सीएसपी बनाकर विभिन्न बैंक खातो से पैसे निकालना ।
2- सोनू कुमार पासवान पुत्र श्री सजीवन लाल पासवान निवासी ग्राम मोहरीपुर थाना चिलुवाताल जनपद गोरखपुर।
तरीका आधार कार्ड डाटा व फिंगर प्रिंट विभिन्न माध्यमों से प्राप्त कर फिंगर प्रिंट क्लोन बनवाकर एईपीएस ट्रान्जेक्शन के माध्यम से पैसे निकालना ।
3- मुकेश कुमार पुत्र श्री श्याम बिहारी निवासी ग्राम अचियापार थाना सहजनवा जनपद गोरखपुर।
तरीका सीएसपी संचालक आधार कार्ड व फिंगर प्रिंट डाटा निकालकर बेचना ।
4- विकास उर्फ विक्की पुत्र स्व0 रामनाथ गौतम निवासी जोन्हिया थाना सहजनवां जनपद गोरखपुर ।
तरीका सहजनवां तहसील में फोटो कापी की दूकान पर काम करता था भू-लेख की वेवसाइट पर रजिस्ट्री पंजीकरण संख्या के माध्यम से IGRS की साइट पर रजिस्टर संख्या डालकर रजिस्ट्री का डाटा डाउनलोड कर लेते थे और वहा से आधार कार्ड नम्बर व फिंगर प्रिंट का डाटा डाउनलोड कर लेते थे जिसे पैसे लेकर सोनू पासवान को बेच देते थे ।
5- सैय्यद जावेद अली पुत्र स्व0 समशेर अली निवासी जाफरा बाजार रानी का टोला थाना तिवारीपुर ।
तरीका फिंगर प्रिंट का क्लोन तैयार करना ।
6- शंशाक पाण्डेय उर्फ गोलू पाण्डेय पुत्र भुवनेश्वर पाण्डेय निवासी बुढ़नपुरा थाना बड़हलगंज जनपद गोरखपुर।
तरीका नेपाल व दिल्ली के व्यक्तियों को पैसे देकर उनका विभिन्न बैंको में खाता खुलवाकर उनका एटीएम कार्ड चेकबुक,नेट बैंकिग का आईडी पासवर्ड राघवेन्द्र मिश्रा से पैसे बेच देना ।
7- दीपेन्द्र थापा पुत्र गोपाल थापा निवासी पहाड़ी मोहल्ला थाना नौतनवा जनपद महराजगंज स्थायी पता- श्यान्जा पोखरा, नेपाल।
तरीका नेपाल व दिल्ली के व्यक्तियों को पैसे देकर नितेश सिंह,राहुल राना व सागर जायसवाल की मदद से उनका विभिन्न बैंको में खाता खुलवाकर पैसे लेकर बेच देना ।
8- सागर जायसवाल पुत्र विनोद जायसवाल निवासी जायसवाल मोहल्ला थाना नौतनवा जनपद महराजगंज। हालपता- मार्डन टाउन, नई दिल्ली।
तरीका नेपाल व दिल्ली के व्यक्तियों को पैसे देकर उनका फर्जी आधार कार्ड व पैनकार्ड बनवाकर पैसे लेकर बेच देना ।
9- राहुल राना पुत्र श्री छविलाल राना निवासी महेन्द्रनगर वार्ड नं0-13 थाना नवतनवा जनपद महराजगंज । हाल पता-मलिकपुर मार्डन टाउन नई दिल्ली ।
तरीका पैसे लेकर नेपाली व्यक्तियों को दीपेन्द्र थापा से मिलवाना तथा नितेश सिंह की मदद से बैंक खाता खुलवाना ।
10- अमित कनौजिया पुत्र राजीव कनौजिया निवासी तिवारीपुर थाने के सामने थाना तिवारीपुर जनपद गोरखपुर ।
तरीका दुकान पर फिंगर प्रिंट क्लोन जावेद की मदद से तैयार कराना ।
11- आशीष पाठक पुत्र इन्द्रप्रताप पाठक निवासी ग्राम देवापार थाना उरूवा बाजार जनपद गोरखपुर ।
तरीकापैन ड्राइव से फिंगर प्रिंट का डाटा इडिट कर जावेद अली को उपलब्ध कराना ।

गिरफ्तारी का स्थान व दिनांक
हरिओम नगर तमकुई कोठी तिराहे के पास व साई कम्यूनिकेशन जिला पंचायत रोड थाना कैण्ट जनपद गोरखपुर दिनांक 23.07.2021 ।

अभियुक्तों के पास से बरामदगी का विवरण
1-नगद रूपया 9,10,000.00 बरामद अभियुक्तगण के पास से ।
2-मोबाईल फोन 53 अदद ।
3-मोबाईल सिम 34 अदद विभिन्न कम्पनियों के ।
4-डोन्गल 01 अदद ।
5-एटीएम कार्ड 26 अदद विभिन्न बैंको व नामो के ।
6-पासबुक 53 अदद विभिन्न बैंको व नामो के ।
7-चेकबुक 48 अदद विभिन्न बैंको व नामो के व 08 अदद चेक जिसमें 01 अदद चेक रू0 02 करोड 60 लाख का मय हस्ताक्षर एवं एक अदद डिमाण्ड ड्राफ रू0 10 करोड़ का ।
8-फिंगर प्रिंट क्लोन 213 अदद ।
9-फिंगर स्कैनर 04 अदद ।
10-पेन ड्राइव 04 अदद ।
11-रजिस्टर 02 अदद (नाम व आधार कार्ड नम्बर डाटा व विभिन्न बैंक खातो का विवरण सहित।)
12-डायरी 02 अदद ।(नाम व आधार कार्ड नम्बर डाटा व विभिन्न बैंक खातो का विवरण सहित।)
13- लैपटाप 01 अदद ।
14-मानीटर 01 अदद मय उपकरण ।
15-पालीमर लिक्विड 04 बोतल ।
16-फिंगर प्रिन्ट उठाने वाला ग्लास 02 अदद ।
17-अल्ट्रा वाइलेट राड 02 अदद ।
18-फाम सीट 06 अदद ।
19-सेल्फ इंक मशीन 01 अदद ।
20- होण्डा सिटी कार DL1CM1836
21-प्लसर मोटर साईकिल UP 53 CY 7463
22-आधार कार्ड 05 अदद व पैनकार्ड 03 अदद ।

अभियुक्तगण को जिस मुकदमें में गिरफ्तार किया गया
मु0अ0सं0 475/2021 धारा 419, 420, 467, 468, 471, 474, 120बी, 411 भा0द0वि0 व 66, 66C, 66D IT ACT थाना कैण्ट गोरखपुर ।

अपराध करने का तरीका (Modus Oprandi) अभियुक्तगण नें पूछताछ में बताया कि हम लोग नेपाल व दिल्ली के लोगो के नाम से खाता खुलवाकर उनका बैंक पासबुक, एटीएम कार्ड, नेट बैंकिग का यूजर आईडी पासवर्ड अपने पास रख लेते थे साथ ही उनका वीडियों केवाईसी कराकर सीएसपी बना लेता था । इसके बदले उन व्यक्तियो को पैसे दे देता था। इसके पश्चात विभिन्न माध्यमों से आधार कार्ड नम्बर व अंगूठे का प्रिंट प्राप्त कर अंगूठे का फिंगर प्रिंट क्लोन बनवा लेते थे। इस प्रकार प्राप्त आधार कार्ड नम्बर व फिंगर प्रिंट क्लोन से उपरोक्त सीएसपी(ग्राहक सेवा केन्द्र) से लिंक बैंक खातों में पैसे ट्रान्सफर करके एटीएम से पैसे निकाल लेते थे ।

गिरफ्तार करने वाले टीम का नाम व पद
1-नि0 सुशील कुमार शुक्ला,प्रभारी स्वाट/एसओजी गोरखपुर ।
2-नि0 संतोष सिंह यादव, क्राइम ब्रांच गोरखपुर ।
3-उ0नि0 महेश कुमार चौबे, प्रभारी साइबर सेल गोरखपुर ।
4-उ0नि0 चन्द्रभान सिंह, प्रभारी एसओजी गोरखपुर ।
5-उ0नि0 अरूण कुमार सिंह, स्वाट टीम गोरखपुर ।
6-हे0का0 विपेन्द्र मल्ल, स्वाट टीम गोरखपुर ।
7-हे0का0 राजमंगल सिंह, स्वाट टीम गोरखपुर ।
8-हे0का0 शशिकान्त राय, स्वाट टीम गोरखपुर ।
9-हे0का0 शनातन सिंह ,स्वाट टीम गोरखपुर ।
10-हे0का0 धर्मेन्द्र नाथ तिवारी,स्वाट टीम गोरखपुर ।
11-हे0का0 योगेश सिंह,एसओजी टीम गोरखपुर ।
12-हे0का0 तेजसिंह,एसओजी टीम गोरखपुर ।
13-हे0का0 राकेश यादव,एसओजी टीम गोरखपुर ।
14-हे0का0 जितेन्द्र सिंह,एसओजी टीम गोरखपुर ।
15-हे0का0 प्रदीप राय,एसओजी टीम गोरखपुर ।
16-का0 इन्द्रेश वर्मा,एसओजी टीम गोरखपुर ।
17-का0 शशिशंकर राय,साइबर सेल गोरखपुर ।

साइबर ठगो से बचाव के उपाय-उपाय
1- एम आधार एप डाउनलोड कर अपना फिंगर प्रिंट डिसेबल करले जरूरत पडने पर ही इनेबल करे।
2-अपने बैंक खाते में फिंगर प्रिंट डिसेबल करा ले जिससेब् एईपीएस ट्रान्जेक्शन न हो सके ।
3-रजिस्ट्री आदि कराने के बाद तत्काल फिंगर प्रिंट एम आधार एप या अपने बैंक खाते के माध्यम से डिसेबल करा ले ।

Previous articleमुख्यमंत्री ने बिसाहू दास महंत की पुण्यतिथि पर माल्यार्पण कर दी श्रद्धांजलि
Next articleUP के 17 PPS अफसरों के ट्रांसफर