लिंक पर टच करके जाने जरहा के अजीरेश्वर धाम मंदिर में क्यों नहीं है अनुमति

 

जरहा के अजीरेश्वर धाम मंदिर में केवल जलाभिषेख की अनुमति, मेला पर रोक।

रिपोर्ट-नीरज कुमार गुप्ता

बीजपुर /सोनभद्र( प्यारीदुनिया)
यूपी के सोनभद्र में इस बार सावन महीने में जरहा स्थिति अति प्राचीन अजीरेश्वर धाम मंदिर में बाबा भोलेनाथ को जलाभिषेख की अनुमति जिला प्रशासन से मिली है। जबकि प्रत्येक वर्ष सावन महीने में यहाँ लगने वाले विशाल मेले पर रोक लगाई गई है। बताते चले कि कोरोना महामारी को देखते हुए जिला प्रशासन ने निर्देश जारी कर कहा है कि मंदिर में प्रवेश के दौरान कोरोना गाइड लाइन को ध्यान में रखते हुए श्रद्धालु भक्त बाबा को जलाभिषेख कर सकते हैं। इसके अलावा परिसर में लगने वाले मेले पर रोक लगाया गया है। गौरतलब हो कि आगामी शनिवार से पवित्र सावन महीना शुरू होने जा रहा है सावन का पहला सोमवार 26 जुलाई को होगा। इसबाबत मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष श्री राजेंद्र प्रताप सिंह बघेल ने मीडिया को उक्त आशय की जानकारी देते हुए सभी श्रद्धालु भक्तों से आग्रह किया है कि मंदिर में प्रवेश के समय सरकार के निर्देशानुसार कोरोना गाइड लाइन के तहत भक्त एक दूसरे से आवश्यक दूरी का ख्याल रखते हुए जलाभिषेख कर बाबा भोलेनाथ के दरबार मे दर्शन पूजन कर पुण्य के भागीदार बने तथा सुरक्षा की दृष्टि से जिला प्रशासन और मंदिर निर्माण समिति को अपना पूर्ण सहयोग प्रदान करें। गौरतलब हो कि जरहा स्थिति प्राचीन अजीरेश्वर धाम मंदिर पर सावन महीने में भब्य मेले का आयोजन होता है। बाबा को जलाभिषेख के लिए भारी संख्या में मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, छतीसगढ़ के बिभिन्न जनपदों से कावड़ यात्रा लेकर श्रद्धालु भक्त बाबा अजीरेश्वर महादेव को जलाभिषेख करने यहाँ पहुँचते हैं।

ख़बरें जरा हटके